Friday, December 3, 2021
- Advertisment -

लैंगसैट फल के पौष्टिक स्वास्थ्य मूल्य और नुकसान क्या है?

- Advertisement -

लैंगसैट महोगनी परिवार के पेड़ हैं, जिन्हें वैज्ञानिक रूप से लैंसियम पैरासिटिकम के रूप में जाना जाता है। लैंगसैट का पेड़ उष्णकटिबंधीय आर्द्र वातावरण में उगता है और एक लंबा खड़ा पौधा है। यह 4 साल के रोपण के बाद फल देना शुरू कर देता है और यह 100 से अधिक वर्षों तक फल देता रहता है।

लंगसैट के पेड़ में अप्रैल से जून तक छोटे पीले फूल दिखाई देते हैं, जो बाद में गुच्छों में हरे रंग के जामुन विकसित करते हैं। इसके फल अगस्त और नवंबर के महीने में कटाई के लिए तैयार हो जाते हैं।

जब इनका रंग भूरा-पीला हो जाता है। यह पौधा है, जो छोटे, गोलाकार, खाने योग्य फल देता है और ये फल बाहरी रूप से आलू के समान होते हैं और इसके अंदर एक सफेद मांस होता है, जिसमें अखाद्य कड़वे बीज होते हैं।

बिटरस्वीट ग्रेपफ्रूट लैंगसैट की उत्पत्ति दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्रों में हुई है। लैंगसैट की मांग आसमान छूती है, जब यह मौसम में होता है, और इसकी खेती दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्रों में मुट्ठी भर क्षेत्रों से आगे नहीं बढ़ती है।

लैंगसैट को दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्रों में कई फल प्रेमियों द्वारा पसंद और सराहा जाता है और मुख्य रूप से इंडोनेशिया, मलेशिया, ब्रुनेई, फिलीपींस और थाईलैंड में उगाया जाता है।

लैंगसैट के कुछ बहुत ही सामान्य नाम हैं: लांसा, डुकू, लंगसेह, लैंसोन, कोकोसन या लैंगसेप, आदि।

लैंगसैट के स्वास्थ्य लाभ

लैंगसैट फल

विटामिन ए

लैंगसैट में विटामिन ए होता है, जो शरीर के महत्वपूर्ण कार्यों के लिए आवश्यक सह-कारक है। लैंगसैट में विटामिन ए की मात्रा अधिक होती है, जो स्वस्थ त्वचा, आंखों, दांतों, कंकाल के ऊतकों और श्लेष्मा झिल्ली को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।

राइबोफ्लेविन

- Advertisement -

लैंगसैट थायमिन और राइबोफ्लेविन जैसे विटामिनों से भरपूर होता है, जो आरबीसी के गठन को बढ़ाता है और शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के लिए कार्बोहाइड्रेट के टूटने में मदद करता है। राइबोफ्लेविन लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन और शरीर के समग्र विकास के लिए महत्वपूर्ण कारकों में से एक है।

मलेरिया रोधी बीज

कई अध्ययनों ने साबित किया है कि लैंगसैट के बीजों में मलेरिया-रोधी चिकित्सीय होने की क्षमता है। इसकी पत्तियों और त्वचा ने प्लास्मोडियम फाल्सीपेरम, एक मलेरिया पैदा करने वाले परजीवी के खिलाफ एंटी-पैथोजेनिक प्रकृति को दिखाया है। इनमें रासायनिक यौगिक होते हैं जो रोगज़नक़ों के जीवन चक्र को बाधित करते हैं और उन्हें मार देते हैं।

एंटीऑक्सीडेंट

लैंगसैट में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो कोशिका क्षति से लड़ते हैं और रक्षा करते हैं। कोशिका को ऑक्सीडेटिव क्षति, जिससे कैंसर या ट्यूमर हो सकता है। लैंगसैट में लिमोनोइड्स होते हैं, जो कैंसर रोधी होते हैं और शरीर को कई कैंसर बीमारियों से बचाते हैं।

बुखार ठीक करता है

लंगसैट का फल सर्दी और बुखार के इलाज में मदद करता है। इसमें विटामिन सी होता है, जो सर्दी और फ्लू के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। लंगसैट के कुचले हुए बीज शरीर के तापमान को कम करने में बहुत मदद करते हैं

पोषण का महत्व

लैंगसैट एक पौष्टिक रूप से समृद्ध फल है। जिसमें कई महत्वपूर्ण तत्व होते हैं जैसे: कार्बोहाइड्रेट, खनिज, विटामिन, प्रोटीन और आहार फाइबर प्रचुर मात्रा में। यह विटामिन ए, राइबोफ्लेविन और थायमिन से भरपूर होता है, जो शरीर के कई कार्यों के लिए अत्यंत आवश्यक है।

लैंगसैट के प्रत्येक 100 ग्राम में 0.8 ग्राम प्रोटीन, 2.3 ग्राम फाइबर, 20 मिलीग्राम कैल्शियम, 30 मिलीग्राम फॉस्फोरस, 9.5 ग्राम कार्ब, 124 मिलीग्राम राइबोफ्लेविन, 89 एमसीजी थायमिन, 13 आईयू विटामिन ए और 1 मिलीग्राम एस्कॉर्बिक एसिड होता है।

ये भी पढ़े –

- Advertisement -

संबंधित पोस्ट

- Advertisment -

ज़रूर पढ़ें

- Advertisement -