HomeQuestionसिंधुताई सपकाल आश्रम से कैसे जुड़ें?

सिंधुताई सपकाल आश्रम से कैसे जुड़ें?

- Advertisement -

सिंधुताई सपकाल आश्रम पुणे में एक अनाथालय घर या जगह है। आश्रम की स्थापना वर्ष 1994 में सिंधुताई सपकाल एक साहसी और निडर महिला द्वारा की थी। वह एक अद्भुत महिला हैं जिन्होंने अनाथ बच्चों की खातिर अपना पूरा जीवन बलिदान कर दिया।

सिंधुताई सपकाल आश्रम

सिंधुताई सपकाल आश्रम से कैसे जुड़ें

आपको 4 साल से 18 साल तक के अनाथ बच्चे मिल जाएंगे। महिला ने इन बच्चों के लिए घर बनवाया है। उन्होंने श्री दीपक गायकवाड़ से भूमि प्राप्त की। यह महिला के लिए एक बड़ी मदद थी। इन वंचित बच्चों के पालन-पोषण की पूरी जिम्मेदारी महिला लेती है। इतना ही नहीं वह उन्हें पूरी शिक्षा भी देती हैं ताकि वे जिम्मेदार नागरिक बन सकें।

इस आश्रम का नाम ममता बाल आश्रम है। यह महाराष्ट्र का एकमात्र आश्रम या स्थान है जो उन बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करता है जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं। आश्रम को विभिन्न सरकारी संगठनों से लगातार आर्थिक मदद मिलती है। इससे उन्हें लंबे समय तक बच्चों का समर्थन करने में मदद मिलती है।

वह अकेली महिला हैं जो किसी भी उम्र के बच्चों की जिम्मेदारी लेने के लिए हमेशा तैयार रहती हैं। बच्चे उसे बहुत प्यार करते हैं। वह उन्हें अपने बच्चे की तरह मानती है। बहुत से लोगों का मानना ​​है किकरीब 1050 अनाथालय के बच्चों की मां हैं।

- Advertisement -

यह जानकर अच्छा लगेगा कि इस महिला को अपनी कड़ी मेहनत और समर्पित काम के कारण कई पुरस्कार और मान्यताएं मिलीं। इस आश्रम के प्रति उनका गहरा प्रेम और जुनून है।

इस आश्रम का हिस्सा कैसे बनें?

कोई भी इस आश्रम का सदस्य बन सकता है। इस आश्रम में शामिल होने के लिए आपको कुछ नियमों का पालन करना होगा।

  • आप इस आश्रम की आधिकारिक साइट पर जा सकते हैं। यह साइट आपको आश्रम के बारे में पूरी जानकारी देगी।
  • आप अनाथालय के बच्चों को पढ़ाने के लिए शिक्षक बन सकते हैं। इससे उनकी बेहतर तरीके से सेवा करने में मदद मिलेगी।
  • आप आश्रम के संरक्षक भी बन सकते हैं।
  • आप साइट पर एक फॉर्म भी प्राप्त कर सकते हैं जो कई विवरण मांगेगा। आपको इसे सभी प्रासंगिक सूचनाओं के अनुसार भरना होगा। कोई भी गलत जानकारी फॉर्म को रद्द करने की ओर ले जाएगी।
  • आप स्वयंसेवक के रूप में भी आश्रम से जुड़ सकते हैं या उससे जुड़ सकते हैं। आप कठिन समय में उनकी सेवा कर सकते हैं।
  • आपको ऐसे बहुत से लोग मिलेंगे जो अनाथालय के बच्चों को दान देने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। इसके माध्यम से आप आश्रम से जुड़ सकते हैं और इसके प्रमुख सदस्यों में से एक बन सकते हैं।
  • ममता बाल आश्रम लंबे समय से बच्चों की सेवा कर रहा है। यह एक महान और नेक कार्य कर रहा है।

ये भी पढ़े

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

ये भी पढ़े

- Advertisement -

संबंधित पोस्ट

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 3 =